July 2, 2022
जतिन किशोर (IAS)

जतिन किशोर (आईएएस) का जीवन परिचय | jatin kishore (IAS) biography in Hindi

जतिन किशोर (IAS) जीवन परिचय, उम्र, लम्बाई, कैरियर, शिक्षा, परिवार, रोचक तथ्य, जीवनी, बायोग्राफी, जीवन परिचय और अधिक

जतिन किशोर एक IAS अधिकारी है। उन्होंने 2019 में संघ लोक सेवा आयोग (UPSC) की CSE की परीक्षा में दूसरी रैंक प्राप्त की थी।

बायो/परिचय (Wiki/bio)

नाम:- जतिन किशोर
UPSC Rank:- 2nd Rank (2019)
कैडर:- AGMUT (Arunachal, Goa, Mizoram & Union Territories)
व्यवसाय:- भारतीय प्रशासनिक अधिकारी (IAS officer)

व्यक्तिगत जानकारी (Personal information)

जन्म दिनांक:- 22 जुलाई 1994
उम्र:- 27 साल (2022 तक)
जन्म स्थान:- पलवल, हरियाणा
गृहनगर:- पलवल, हरियाणा
नागरिकता/राष्ट्रीयता:- भारतीय
राशिफल:- कर्क राशि
श्रेणी (category):- जनरल (General)
शौक:- किताबे पढ़ना

शारीरिक जानकारी (Physical Stats)

आंखों का रंग:- काला
बालों का रंग:- काला
लम्बाई:- 170 सेंटीमीटर
1.70 मीटर
5 फीट 7 इंच

शिक्षा और योग्यता (Education & qualification)

स्कूल:- ज्ञात नहीं
कॉलेज:- सेंट स्टीफंस कॉलेज, दिल्ली
दिल्ली स्कूल ऑफ इकोनॉमिक्स, दिल्ली
योग्यता :- इकोनॉमिक्स में MA (दिल्ली स्कूल ऑफ इकोनॉमिक्स)

परिवार (Family)

पिता का नाम:- ललित किशोर
माता का नाम:- नाम ज्ञात नहीं
भाई का नाम:- ज्ञात नहीं
बहन का नाम:- ज्ञात नहीं

वैवाहिक स्थिति, बच्चे (Marital status, children)

वैवाहिक स्थिति:- अविवाहित
पत्नी:- ज्ञात नहीं

कैरियर (Career)

जतिन किशोर ने पोस्ट ग्रेजुएशन करने के बाद UPSC सिविल सेवा परीक्षा (CSE) की तैयारी शुरू कर दी थी। वह अपने पहले प्रयास में UPSC की प्रीलिम्स की परीक्षा पास नहीं कर पाए थे। उन्होंने हार नही मानी और अपने दूसरे प्रयास की तैयारी शुरू कर दी थी।

अपने दूसरे प्रयास में उन्होंने ऑल इंडिया में दूसरी रैंक हासिल की थी। उसके बाद उन्हें AGMUT (Arunachal, Goa, Mizoram, Union Territories) कैडर मिला था।

जतिन किशोर से जुड़े रोचक तथ्य (Intresting Fact About jatin kishore)

  • जतिन किशोर को साइंस फिक्शन देखना और किताबें पढ़ना बहुत पसंद है।
  • वह अपने पहले प्रयास में UPSC प्रीलिम्स को पास करने में असफल रहे थे, लेकिन अपने दूसरे प्रयास में यूपीएससी में 2nd रैंक हासिल की थी।
  • वह अपनी सफलता का श्रेय अपने परिवार, शिक्षकों और दोस्तों को देते हैं। खासकर अपने परिवार में वह अपनी इस उपलब्धि का श्रेय अपनी मां को देते हैं।
  • UPSC सिविल सेवा परीक्षा की तैयारी के लिए उन्होंने कनॉट प्लेस, नई दिल्ली में राऊ के आईएएस स्टडी सर्कल कोचिंग में भाग लिया था।
  • एक IAS के रूप में सेवा करते हुए, वह पर्यावरण और शिक्षा क्षेत्र पर ध्यान केंद्रित करना चाहेंगे। उन्होंने एक इंटरव्यू के दौरान बताया:

IAS सामान्य रूप से समाज को बेहतर बनाने के लिए सेवा करने और योगदान करने का एक अद्भुत मंच है। मैं जिस जिले में तैनात हूं, उसके आधार पर मैं चुनौतियों का समाधान करूंगा। हालाँकि, सामान्य तौर पर, मैं शिक्षा पर ध्यान देना चाहूंगा क्योंकि यह जीवन का आधार है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.