June 25, 2022
गोपाल कृष्ण रोनांकी (आईएएस)

गोपाल कृष्ण रोनांकी (आईएएस) का जीवन परिचय | Gopalakrishna Ronanki (IAS) biography in Hindi

गोपाल कृष्ण रोनांकी (IAS) जीवन परिचय, उम्र, लम्बाई, कैरियर, शिक्षा, परिवार, रोचक तथ्य, जीवनी, बायोग्राफी, जीवन परिचय और अधिक

गोपाल कृष्ण रोनांकी एक भारतीय प्रशासनिक अधिकारी (IAS) हैं। उन्होंने 2016 में संघ लोक सेवा आयोग (UPSC) की परीक्षा CSE में all india में तीसरी रैंक हासिल की थी।

बायो/परिचय (Wiki/bio)

नाम:- गोपाल कृष्ण रोनांकी
UPSC रैंक:- 3rd रैंक (2016)
व्यवसाय:-:- भारतीय प्रशासनिक अधिकारी (IAS officer)

व्यक्तिगत जानकारी (Personal information)

जन्म दिनांक:- 1987
उम्र:- 35 साल (2022 तक)
जन्म स्थान:- श्रीकाकुलम, आंध्र प्रदेश
गृहनगर:- गांव: परसांबा, ब्लॉक्: पलासा, जिला: श्रीकाकुलम, आंध्र प्रदेश
नागरिकता/राष्ट्रीयता:- भारतीय
राशिफल:- ज्ञात नहीं
धर्म:- हिन्दू धर्म
श्रेणी (Category):- ज्ञात नहीं
शौक:- पढना

शारीरिक जानकारी (Physical Stats)

आंखों का रंग:- काला
बालों का रंग:- काला
लम्बाई:- 170 सेंटीमीटर
1.70 मीटर
5 फीट 7 इंच

शिक्षा और योग्यता (Education & qualification)

स्कूल:- गवर्नमेंट जूनियर कॉलेज, पलासा, आंध्र प्रदेश
कॉलेज:- आंध्र विश्वविद्यालय, विशाखापत्तनम
योग्यता :- दो वर्षीय शिक्षक प्रशिक्षण पाठ्यक्रम
B.Sc (MPC)

परिवार (Family)

पिता का नाम:- रोनंकी अप्पा राव
माता का नाम:- रुक्मीनाम्मा
भाई का नाम:- RK कोंडा राव (बैंकर)
बहन का नाम:- ज्ञात नहीं

वैवाहिक स्थिति, बच्चे (Marital status, children)

वैवाहिक स्थिति:- अविवाहित
पत्नी:- ज्ञात नहीं

गोपाल कृष्ण रोनांकी से जुड़े रोचक तथ्य (Intresting Fact About Gopalakrishna Ronanki)

  • गोपालकृष्ण बेहद गरीब परिवार से ताल्लुक रखते हैं। स्कूल के दिनों में उनके घर में बिजली भी नहीं थी।
  • UPSC 2016 को पास करने से पहले वह पिछले 11 वर्षों से एक सरकारी प्राथमिक विद्यालय में शिक्षक के रूप में काम करते थे।
  • उन्होंने तेलुगु माध्यम से अपनी पढ़ाई पूरी की थी, इसलिए उन्होंने UPSC 2016 के मुख्य विषयों में अपने वैकल्पिक विषय के रूप में “तेलुगु साहित्य” को चुना था।
  • उनको UPSC द्वारा तेलुगु में व्यक्तित्व परीक्षण साक्षात्कार देने की अनुमति दी गई थी।
  • उन्होंने UPSC 2016 की परीक्षा में तीसरी रैंक हासिल कि थी और यह उनका चौथा प्रयास था। उन्होंने 1,101 अंक (54.37%) हासिल किए थे।
  • वह सोशल मीडिया से दूर रहते हैं।
  • उन्होंने अपने माता-पिता को IAS अधिकारी बनने के अपने सपने के बारे में कभी नहीं बताया, जिसके लिए वह पिछले 10 वर्षों से तैयारी कर रहे थे। उन्होंने अपना चयन होने के बाद अपने माता-पिता को यह खबर दी थी। उनके माता-पिता को इस बात का अंदाजा नहीं था कि उनका बेटा एक IAS अधिकारी बनेगा।
  • वह साईं बाबा के भक्त हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.